Home सियासत किसान मन उपर लाठीचार्ज.. प्रदेश म सियासत के चढ़ गे पारा.. भाजपा...

किसान मन उपर लाठीचार्ज.. प्रदेश म सियासत के चढ़ गे पारा.. भाजपा के जबर विरोध

288
0
ऐसा पहली बार हुआ सत्रह अठ्ठारह सालों में , अन्नदाताओं पर लाठीयां बरसाई पुलिस वालों ने

जय जोहार. प्रदेश में धान खरीदी ल ले के सियासत अपन चरम म हे , एक तरफ कांग्रेस सरकार ह धान के एक एक दाना खरीदे के बात करत हे त अईसे का बात होगे कि कोंडागांव म किसान मन ल चक्का जाम करे ल पड़ गे अऊ ये चक्का जाम किसान मन ऊपर भारी पड़ गे, किसान मन बारदाना के मांग ल ले के प्रदर्शन करिस जेखर कारण नेशनल हाइवे जाम होगे।

अंधियार होय के बाद प्रशासनिक अधिकारी मन ले बारदाना के सम्बन्ध म कुछु आश्वासन मिले के इन्तेजार म किसान मन  सड़क म ही खाना पकाय ल लग गे , जेखर ले नाराज प्रशासन अऊ पुलिस अधिकारी मन किसान मन ऊपर बर्बरता पूर्वक लाठी बरसा दिन , एमा कई किसान मन घायल होगे , ये घटना ले जम्मो किसान मन आक्रोशित होगे ,

ऐसा पहली बार हुआ सत्रह अठ्ठारह सालों में , अन्नदाताओं पर लाठीयां बरसाई पुलिस वालों ने

एती राजधानी म घलो एखर असर देखे गिस. पूर्व मुख्यमंत्री अऊ बीजेपी के बड़े बड़े नेता मन ये घटना के निंदा करत हुए जांच के मांग करिस अऊ धान खरीदी के मियाद पंद्रह दिन अऊ बढ़ाए के मांग ल ले के राज्यपाल ले मुलाक़ात करिस. पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह ह किहिस कि आज प्रदेश के मुखिया अऊ बड़े बड़े अधिकारी मन विदेश गे हे अऊ इन्हा किसान मन के समस्या सुने वाला कोई नई हे। रमन सिंह ह अऊ किहिस कि बीते पंद्रह साल म हमर सरकार ह धान खरीदी ल ले के एक व्यवस्था के निर्माण करे रिहिस जेला भूपेश बघेल ह ध्वस्त कर दिस।

ऐसा पहली बार हुआ सत्रह अठ्ठारह सालों में , अन्नदाताओं पर लाठीयां बरसाई पुलिस वालों ने

पूरा मामला म बीजेपी ह सरकार ले श्वेत पत्र जारी करे के मांग करिस अऊ अन्नदाता मन ऊपर लाठीचार्ज के विरोध म जिला जिला म प्रदर्शन करे के बात किहीन , बहरहाल धान खरीदी ल ले के राज्य म सियासत गरमा गे हे अऊ एक बार फेर आरोप प्रत्यारोप के दौर शुरू होगे हे लेकिन जेन किसान मन के बलबूते सरकार बनिस उही सरकार के मुलाजिम मन किसान मन ऊपर लाठी बरसात हे अइसे में सरकार के तरफ ले किसान हितैषी बयान बाजी सिवाय जुमला के कुछ नई हो सके.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.