Monday, September 21, 2020
Home हमर रचनाकार

हमर रचनाकार

ठेठरी-खुरमी अउ जोहार…? मूल संस्कृति के एक भावात्मक रूप आय..

सुशील भोले. छत्तीसगढ के मैदानी भाग म प्रचलित संस्कृति म वइसे तो किसम-किसम के रोटी-पिठा बनाए जाथे, फेर ठेठरी अउ खुरमी के अपन अलगेच...

भारतीय संस्कार अउ संवेदना ले ओतप्रोत काव्य संग्रह “सहस्त्र धारा” के होईस विमोचन

दुर्ग. मुंबई म रहवईया अऊ दुरुग म बढ़े कवयित्री रजनी साहू के काव्य संकलन  “सहस्त्र धारा” के विमोचन करे गिस। समारोह अखिल भारतीय अग्निशिखा...

नदा गे हमर झिरिया के पानी.. फेर जागत हे उम्मीद

हमन लइका रेहेन त हमर गाँव नगरगांव ले बोहाने वाला कोल्हान नरवा म गरमी के दिन म झिरिया कोड़ऩ अउ वोमा कूद-कूद के नहावन। सुशील...

विशेष लेख: कईसे बहुरहि घुरुआ के दिन…..

खोमेन्द्र देशमुख. छत्तीसगढ़ के ए पुराना कहावत हे कि घुरुआ के दिन घलो बहुरथे...। याने कि अईसन चीज जेखर कोनों महत्व ल नई समझिस तेखर...

अस्मिता के आत्मा आय संस्कृति…..

सुशील भोले आजकाल 'अस्मिता" शब्द के चलन ह भारी बाढग़े हवय। हर कहूँ मेर एकर उच्चारन होवत रहिथे, तभो ले कतकों मनखे अभी घलोक एकर...

नवा बछर बर लेख… नवा बिहान के आस

सुशील भोले मुंदरहा के सुकुवा बिखहर अंधियारी रात पहाये के आरो देथे। सुकुवा के दिखथे अगास म अंजोर छरियाये के आस बंध जाथे। चिरई-चिरगुन...

नवा सरकार म का छत्तीसगढ़ के मूल संस्कृति अपन मूल अस्तित्व म लहुटही…?

सुशील भोले , +919826992811 छत्तीसगढ के मूल संस्कृति इहां के मेला-मड़ई की संस्कृति आए। इहां के लोक पर्व मातर के दिन मड़र्ई जागरण के संगे-संग...

आज के लइका मन बांटा म दाई-ददा ल बांट लेथें

आज के लइका मन बांटा म दाई-ददा ल बांट लेथें कोन काकर संग रइही अपन हिस्सा म छांट लेथें होथे जरूरत जब जादा एक-दूसर संग रहे...

ऐ दरी माटी म पसीना बोहईया किसान मन के अस्तित्व अऊ अस्मिता ल झकझोरत हे विधानसभा चुनाव 2018

झबेंन्द्र भूषण महासचिव, प्रगतिशील किसान संगठन लोकतंत्र म चुनाव ह कोनों नवा बात नोहे। बछर-बछर म चुनावी तिहार मनाए के मऊका लोगन ल इंहां मिलत रहिथे।...

छत्तीसगढ़ी भाखा ले स्कूल मन म नइ होवत हे पढ़ाई

सुधा वर्मा छत्तीसगढ़ राज्य ल बने 18 बछर होगे हे पर अभु तक छत्तीसगढ़ी भाखा स्कूल मन म नइ पहुंच पाइस हे। ये सरकार के...

छत्तीसगढ़ी भाखा ले स्कूल मन म नइ होवत हे पढ़ाई

सुधा वर्मा छत्तीसगढ़ राज्य ल बने 18 बछर होगे हे पर अभु तक छत्तीसगढ़ी भाखा स्कूल मन म नइ पहुंच पाइस हे। ये सरकार...

जयचंद नई रतिस त रईपुर के इतिहास ह कुछु अऊ होतिस.. पढ़व आजादी आंदोलन के काला इतिहास के कहानी…

  आशीष सिंह हमर देश के स्वतंत्रता संग्राम के पन्ना म आंदोलनकारी, सेनानी के त्याग, तपस्या अऊ बलिदान के गाथा ह जतेक दमकत आखर म...
- Advertisment -

Most Read