Home हमर खबर दू दर्जन गांव के मनखे कैद, नक्सली फरमान ले गांव ले नई...

दू दर्जन गांव के मनखे कैद, नक्सली फरमान ले गांव ले नई निकल पात हे ग्रामीण.. काबर पढ़व ऐ खबर

98
0
Decree of Maoists

नारायणपुर. सुरक्षाबल ले खार खाके अब नक्सली मन ह नवा दांव खेले हे। मामला हरे अबूझमाड़ इलाका के जिहां दू दर्जन ले ज्यादा गांव के मनखे मन न राशन लाए बर जा सकत हे न जंगल.. अईसे में ओखर मन के आगू ऐ दुविधा हे कि घर के गुजर-बसर कईसे होही। माड़ इलाका के ऐ गांव म जन अदालत लगाके गांव वाला मन उपर नक्सली मन बंदिश लगा दे हे। पुरुष अउ माई लोगन मन बर अलग-अलग नियम बना हे।

मिले जानकारी के अनुसार माई लोगन मन ल जिहां राशन दुकान अऊ आसपास हाट-बाजार करे के छूट दे गे हे त उहें युवा मन के संगे-संग पुरुष मन ल जिला मुख्यालय जाए के मनाही हे। ओमन राशन अऊ जंगल घलो नई जा सके। कोनों बिसेस बूता बर जाना होही त जनताना सरकार ले अनुमति ले के जाए बर पड़ही।

उहें नक्सली मन के कोनों विश्वसनीय मनखे ल लेके जाए ल पड़ही। जेन ऐ फरमान ल नई मानिस अईसे आठ गांव के 31 परिवार ल नक्सली मन पहिली ही गांव ले भगा दे हे। आज ओ परिवार ह जिला मुख्यालय म शरण ले बर मजबूर हे।

माड़ के टाहकाढोड, कदेर, ब्रेहबेड़ा, बालेबेड़ा, मेटानार, ताड़ोनार, गारपा, तुड़को, तुमेरादी, परियादी, ओरछापर, कोंगाली संग कई गांव म ऐ फरमान के सूचना हे। ऐ वजह ले आज अबूझमाड़ के रहवासी मन न घर के न घाट के वाला स्थिति म हे।

बता देन कि टाहकाढोड़ निवासी एक युवक ह गांव कुछ लोगन मन संग आत्मसमर्पण करे बर थाना आए रिहिस। पुलिस ह पूछताछ करिस फेर ओखर गिरफ्तारी करे बिना ओला रवाना कर दिस। गांव ओ ह गांव पहुंचिस त ऐखर खबर नक्सली मन ल मिलिस कि ओहा आत्मसमर्पण करके लौटे हे।

इही बात ले नाराज होके नक्सली मन ओला पकड़ के जंगल कोती ले जात रिहिस। फेर कोनों तरीका ले ओ ह भाग निकलिस अऊ जिला मुख्यालय म शरण ले के बईठे हे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.