सीखव जिनगी के पहाड़ ल कईसे पार करे जाथे…नंदिया कस आगू बढ़व

नंदिया के एक सबले बड़े गुन होथे, वोला कतकों रोक ले, छेंक ले, मूंद ले, तोप ले फेर हर बंधन ल टोर के वो आगू बढ़ जाथे। बड़े-बड़े डोंगरी पहार आथे, पखरा अउ पटपर आथे वो जम्मो जगा ले अपन निकले के रद्दा निकाल लेथे। हम सबके जिनगी ल घलो अइसने होना चाही। कोनों कतकों […]

June 8, 2018 3 Mins Read
34 Views

Subscribe to our newsletter and stay updated.

© 2021, All Rights Reserved.