सराब के नसा म मदहोस होके स्कूल पहुंचत ये सिक्छक ह

धमतरी। कहथे माता-पिता के बाद अगर हमन ल कोनो ले योग्य संस्कार मिलथे, त वो ह गुरू हे। लेकिन जिला के .ये स्कूल म गुरू के एक अलगे महिमा देख बर मिलिस। दरअसल ये स्कूल म पढ़ाय बर एक सिक्छक रोज सराब पीके स्कूल आत हे। पूरा दिन पढ़ाई कराय के बजाय आफिस म आराम […]

July 25, 2018 One Min Read
11 Views

Related Posts

Nothing found!

It looks like nothing was found here!

Subscribe to our newsletter and stay updated.

© 2021, All Rights Reserved.